अच्छी क्वालिटी की साइटें बनाने में आपकी मदद के लिए कुछ और जानकारी

संग्रह की मदद से व्यवस्थित रहें अपनी प्राथमिकताओं के आधार पर, कॉन्टेंट को सेव करें और कैटगरी में बांटें.

शुक्रवार, 6 मई, 2011

पिछले कुछ महीनों से, हम इस बात पर खास ध्यान दे रहे हैं कि Google के खोज नतीजों में अच्छी क्वालिटी की साइटें ढूंढने में, हम लोगों की मदद करें. "Panda" एल्गोरिदम में बदलाव से, बड़ी संख्या में अच्छी क्वालिटी वाली साइटों की रैंकिंग में सुधार हुआ है. इसलिए, आप में से ज़्यादातर लोगों को किसी तरह की चिंता करने की ज़रूरत नहीं है. हालांकि, Panda की वजह से कुछ साइटों की रैकिंग पर असर पड़ा है. ऐसी साइटों के लिए, हम अलग से यह जानकारी देना चाहते हैं कि Google अच्छी क्वालिटी की साइटें कैसे खोजता है.

हम पब्लिशर को यह सलाह देते हैं कि वे अपनी वेबसाइटों पर आने वाले लोगों को बेहतर अनुभव देने पर ज़्यादा ध्यान दें. वे इस बारे में ज़्यादा न सोचें कि रैंकिंग तय करने वाले Google के मौजूदा एल्गोरिदम या सिग्नल कौनसे हैं. कुछ पब्लिशर ने पिछली बार Panda एल्गोरिदम में हुए बदलाव को ही सारी समस्याएं ठीक करने का आधार मान लिया है. हालांकि, Panda, खोज से जुड़े करीब 500 अपडेट में से एक है, जिन्हें हम इस साल लागू करने वाले हैं. Panda के लॉन्च के बाद से अब तक, हमने अपने रैकिंग एल्गोरिदम में दर्ज़न भर से ज़्यादा फेरबदल किए हैं, लेकिन कुछ साइटों ने गलती से यह समझ लिया कि उनकी रैंकिंग में बदलाव Panda की वजह से हुए हैं. इंटरनेट पर खोज से जुड़ी प्रोसेस, एक ऐसी कला और विज्ञान है जिसमें लगातार अपडेट होते रहते हैं. इसलिए, हमारा सुझाव है कि किसी खास एल्गोरिदम में होने वाले फेरबदल पर ज़्यादा ध्यान देने के बजाय, आप उपयोगकर्ताओं को बेहतरीन अनुभव देने पर ध्यान दें.

किस तरह की साइट को अच्छी क्वालिटी वाली साइट माना जाता है?

साइटों की क्वालिटी का पता लगाने वाले हमारे एल्गोरिदम, खराब क्वालिटी वाले कॉन्टेंट की रैंकिंग घटा देते हैं, ताकि लोग आसानी से "अच्छी क्वालिटी" वाली साइटें खोज सकें. हाल ही में "Panda" में नए अपडेट किए गए हैं, ताकि ऐल्गोरिदम का इस्तेमाल करके, वेबसाइट की क्वालिटी का पता लगाने का मुश्किल काम आसान हो सके. हम चाहते हैं कि आपको उन आइडिया और रिसर्च के बारे में बताएं जिनका इन एल्गोरिदम को बनाने में अहम योगदान रहा है.

नीचे कुछ सवाल दिए गए हैं. इनके आधार पर किसी पेज या लेख की "क्वालिटी" का आकलन किया जा सकता है. साइट की क्वालिटी का आकलन करने के लिए एल्गोरिदम बनाते समय, हम खुद से इसी तरह के सवाल पूछते हैं. हमारे उपयोगकर्ता क्या चाहते हैं, यह उसे समझने का हमारा तरीका है.

ज़ाहिर है कि हम असल रैंकिंग सिग्नल के बारे में नहीं बता रहे हैं, जिनका इस्तेमाल हमारे एल्गोरिदम में किया जाता है. हम नहीं चाहते कि लोग हमारे खोज के नतीजों से छेड़छाड़ करें. हालांकि, अगर आपको Google की सोच के बारे में जानना है, तो इन सवालों से आपको यह समझने में मदद मिलेगी कि इस समस्या के बारे में हमारा नज़रिया क्या है:

  • क्या आपको इस लेख में दी गई जानकारी पर भरोसा है?
  • क्या यह लेख किसी ऐसे व्यक्ति ने लिखा है जो इस विषय का जानकार है या इसमें खास दिलचस्पी रखता है या फिर इस लेख में दी गई जानकारी बड़ी ही मामूली है?
  • क्या साइट पर एक या एक जैसे विषयों पर ऐसे डुप्लीकेट, ओवरलैप करने वाले या फ़ालतू लेख हैं जिन्हें बस कीवर्ड में मामूली फेरबदल करके डाला गया है?
  • क्या आपको इस साइट पर अपने क्रेडिट कार्ड की जानकारी देने में सहूलियत होगी?
  • क्या इस लेख में वर्तनी, शैली या तथ्यों से जुड़ी गड़बड़ियां हैं?
  • क्या साइट पर उपलब्ध विषय, लोगों की पसंद को ध्यान में रखकर चुने गए हैं या बस सर्च इंजन में बेहतर रैंकिंग पाने की कोशिश में साइट पर कॉन्टेंट डाला जा रहा है?
  • क्या इस लेख से ओरिजनल कॉन्टेंट या जानकारी, ओरिजनल रिपोर्टिंग, ओरिजनल रिसर्च या मूल विश्लेषण मिलता है?
  • क्या यह पेज, खोज के नतीजों में दिखने वाले दूसरे पेजों की तुलना में ज़्यादा काम का लगता है?
  • कॉन्टेंट के क्वालिटी कंट्रोल पर कितना ध्यान दिया गया है?
  • जिस विषय पर यह लेख है, क्या यह उसके दोनों पहलुओं की जानकारी देता है?
  • क्या इस विषय के बारे में, इस साइट पर पूरा भरोसा किया जा सकता है?
  • क्या कॉन्टेंट बहुत से क्रिएटर्स को आउटसोर्स करके या उनकी मदद से बड़े पैमाने पर बनाया गया है? इसके अलावा, क्या यह साइटों के एक बड़े नेटवर्क पर फैला है, ताकि अलग-अलग पेजों या साइटों पर ज़्यादा ध्यान न जाए?
  • क्या लेख में ठीक से बदलाव किया गया है या इसे देखकर ऐसा लगता है कि यह लापरवाही से या जल्दबाज़ी में तैयार किया गया है?
  • स्वास्थ्य से जुड़ी किसी जानकारी के लिए, क्या आपको इस साइट पर भरोसा है?
  • क्या इस साइट का नाम लिए जाने पर आप इसे एक आधिकारिक सोर्स के रूप में मानेंगे?
  • क्या इस लेख से, किसी विषय के बारे में पूरी या उससे जुड़ी बेहतर जानकारी मिलती है?
  • क्या इस लेख में गहराई से किया गया विश्लेषण या दिलचस्प जानकारी उपलब्ध है, जो आम तौर पर नहीं मिलती?
  • क्या यह ऐसा पेज है जिसे बुकमार्क किया जा सकता है, किसी दोस्त के साथ शेयर किया जा सकता है या इसे किसी को पढ़ने का सुझाव दिया जा सकता है?
  • क्या इस लेख में बहुत ज़्यादा विज्ञापन हैं, जो मुख्य कॉन्टेंट से ध्यान भटकाते हैं या पढ़ने में मुश्किल पैदा करते हैं?
  • क्या आपको लगता है कि यह लेख किसी प्रिंट की गई पत्रिका, एन्साइक्लोपीडिया या किताब में होना चाहिए?
  • क्या लेख छोटे हैं, बेकार हैं या उनमें काम की जानकारी नहीं है?
  • क्या पेज बारीकियों को ध्यान में रखकर तैयार किए गए हैं या उन पर कम ध्यान दिया गया है?
  • क्या लोग इस साइट के पेज देखने पर उनकी शिकायत करेंगे?

पेज या साइट की क्वालिटी का आकलन करने के लिए एल्गोरिदम बनाना काफ़ी मुश्किल काम है. हालांकि, हमें उम्मीद है कि ऊपर दिए गए सवालों से इस बारे में थोड़ी जानकारी मिलती है. इनसे आपको पता चलेगा कि हम अच्छी क्वालिटी और हल्की क्वालिटी वाली साइटों में फ़र्क़ करने वाले एल्गोरिदम कैसे लिखते हैं.

साइट की क्वालिटी को बेहतर कैसे बनाया जा सकता है

कई लोगों ने हमसे इस बारे में सलाह मांगी है कि Google पर अपनी साइट की रैंकिंग बेहतर करने के लिए क्या किया जा सकता है. खास तौर पर, जब आपको लगता है कि Panda में हुए अपडेट से आपकी वेबसाइट पर असर हुआ है. हमारी सलाह यही है कि Google के किसी खास एल्गोरिदम के हिसाब से कॉन्टेंट बनाने के बजाय, अच्छी क्वालिटी का कॉन्टेंट बनाने पर ध्यान दें. इसके लिए, आप ऊपर दिए गए सवालों को याद रखें.

एक और ज़रूरी बात यह है कि वेबसाइट के कुछ हिस्सों में मौजूद, हल्की क्वालिटी के कॉन्टेंट से पूरी साइट की रैंकिंग पर असर पड़ सकता है. इसलिए, हमारी सलाह है कि आप साइट पर मौजूद हल्की क्वालिटी वाले पेजों को हटा दें, उनके कॉन्टेंट में सुधार करें या उन्हें मर्ज करके काम के पेज में बदल दें. इसके अलावा, हल्की क्वालिटी वाले पेजों को किसी दूसरे डोमेन पर ले जाएं. इससे, अच्छी क्वालिटी वाले आपके कॉन्टेंट की रैंकिंग में सुधार हो सकता है.

अच्छी क्वालिटी की साइटों को खोज से ज़्यादा ट्रैफ़िक दिलाने में उनके वेबमास्टर की मदद करने के लिए, हम लगातार और एल्गोरिदम पर काम कर रहे हैं. इसलिए, किसी खास एल्गोरिदम की वजह से हुए बदलाव पर ध्यान देने के बजाय, अपनी साइट को बेहतर बनाने पर ध्यान दें. साथ ही, हमारी सलाह है कि ऐसा करते हुए, आप खुद से उसी तरह के सवाल पूछें जो हम इन एल्गोरिदम को तैयार करते हुए अपने-आप से पूछते हैं. ऐसा करने पर इस बात की संभावना ज़्यादा है कि आपकी साइट लंबे समय तक अच्छी रैंक पर रहेगी. इस बीच, अगर आपको कोई सुझाव देना है, तो कृपया हमारे वेबमास्टर फ़ोरम पर हमें इस बारे में बताएं. रैंकिंग एल्गोरिदम में, आने वाले समय में होने वाले अपडेट पर काम करते हुए, हम इस फ़ोरम के थ्रेड पर हमेशा नज़र रखते हैं और सर्च क्वालिटी टीम तक साइट की जानकारी पहुंचाते रहते हैं.