संग्रह की मदद से व्यवस्थित रहें अपनी प्राथमिकताओं के आधार पर, कॉन्टेंट को सेव करें और कैटगरी में बांटें.

Course

अपने कोर्स की सूचियों को स्ट्रक्चर्ड डेटा से मार्कअप करें, ताकि छात्र-छात्राएं Google Search पर आपकी साइट को ढूंढ सकें. कोर्स का नाम, उसे चलाने वाले का नाम, और कम शब्दों में उसका ब्यौरा, स्ट्रक्चर्ड डेटा के तौर पर इस्तेमाल किया जा सकता है.

Google Search के नतीजों में, कोर्स से जुड़ा ज़्यादा बेहतर नतीजा (रिच रिज़ल्ट)

स्ट्रक्चर्ड डेटा को जोड़ने का तरीका

स्ट्रक्चर्ड डेटा, किसी पेज के बारे में जानकारी देने और पेज के कॉन्टेंट को कैटगरी में बांटने का एक स्टैंडर्ड फ़ॉर्मैट है. अगर आपको स्ट्रक्चर्ड डेटा के बारे में ज़्यादा जानकारी नहीं है, तो स्ट्रक्चर्ड डेटा के काम करने का तरीका देखें.

स्ट्रक्चर्ड डेटा बनाने, उसकी जांच करने, और उसे रिलीज़ करने के बारे में खास जानकारी यहां दी गई है. वेब पेज में स्ट्रक्चर्ड डेटा जोड़ने के सिलसिलेवार निर्देशों के लिए, स्ट्रक्चर्ड डेटा कोडलैब (कोड बनाना सीखना) देखें.

  1. ज़रूरी प्रॉपर्टी जोड़ें. जिस फ़ॉर्मैट का इस्तेमाल हो रहा है उसके हिसाब से जानें कि पेज पर स्ट्रक्चर्ड डेटा कहां डालना है.
  2. दिशा-निर्देशों का पालन करें.
  3. ज़्यादा बेहतर नतीजों (रिच रिज़ल्ट) के टेस्ट का इस्तेमाल करके, अपने कोड की पुष्टि करें.
  4. स्ट्रक्चर्ड डेटा वाले कुछ पेजों को डिप्लॉय करें. इसके बाद, यूआरएल जांचने वाला टूल इस्तेमाल करके जांचें कि Google को पेज कैसा दिखेगा. पक्का करें कि Google आपका पेज ऐक्सेस कर सकता हो. साथ ही, देखें कि उस पेज को robots.txt फ़ाइल और noindex टैग से ब्लॉक न किया गया हो या लॉग इन करना ज़रूरी न हो. अगर पेज ठीक दिखता है, तो Google को अपने यूआरएल फिर से क्रॉल करने के लिए कहें.
  5. Google को आगे होने वाले बदलावों की जानकारी देने के लिए, हमारा सुझाव है कि आप साइटमैप सबमिट करें. Search Console साइटमैप एपीआई की मदद से, इसे ऑटोमेट भी किया जा सकता है.

उदाहरण

एक कोर्स की ज़्यादा जानकारी वाला पेज

यहां एक कोर्स की ज़्यादा जानकारी वाले पेज का उदाहरण दिया गया है. इस पेज को खास जानकारी वाले पेज के साथ जोड़ा जाना चाहिए, जिस पर ItemList मार्कअप है.


<html>
  <head>
    <title>Introduction to Computer Science and Programming</title>
    <script type="application/ld+json">
    {
      "@context": "https://schema.org",
      "@type": "Course",
      "name": "Introduction to Computer Science and Programming",
      "description": "Introductory CS course laying out the basics.",
      "provider": {
        "@type": "Organization",
        "name": "University of Technology - Eureka",
        "sameAs": "http://www.ut-eureka.edu"
      }
    }
    </script>
  </head>
  <body>
  </body>
</html>

हर कोर्स की पूरी जानकारी देने वाला पेज

यहां पूरी जानकारी देने वाले पेज का उदाहरण दिया गया है. इस पेज सेट अप में एक ही पेज पर, कैरसेल मार्कअप के साथ-साथ हर कोर्स की जानकारी शामिल होती हैं.


<html>
  <head>
    <title>Computer Science Courses</title>
    <script type="application/ld+json">
    {
      "@context": "https://schema.org",
      "@type": "ItemList",
      "itemListElement": [
        {
          "@type": "ListItem",
          "position": 1,
          "item": {
            "@type": "Course",
            "url":"https://www.example.com/courses#intro-to-cs",
            "name": "Introduction to Computer Science and Programming",
            "description": "This is an introductory CS course laying out the basics.",
            "provider": {
              "@type": "Organization",
              "name": "University of Technology - Example",
              "sameAs": "https://www.example.com"
           }
          }
        },
        {
          "@type": "ListItem",
          "position": 2,
          "item": {
            "@type": "Course",
            "url":"https://www.example.com/courses#intermediate-cs",
            "name": "Intermediate Computer Science and Programming",
            "description": "This is a CS course that builds on the basics learned in the Introduction course.",
            "provider": {
              "@type": "Organization",
              "name": "University of Technology - Example",
              "sameAs": "https://www.example.com"
           }
         }
        },
        {
          "@type": "ListItem",
          "position": 3,
          "item": {
            "@type": "Course",
            "url":"https://www.example.com/courses#advanced-cs",
            "name": "Advanced Computer Science and Programming",
            "description": "This CS course covers advanced programming principles.",
            "provider": {
              "@type": "Organization",
              "name": "University of Technology - Eureka",
              "sameAs": "https://www.example.com"
           }
          }
        }
      ]
    }
    </script>
  </head>
  <body>
  </body>
</html>

दिशा-निर्देश

अपनी साइट को कोर्स कैरसेल में दिखाने के लिए, आपको इन दिशा-निर्देशों का पालन करना होगा.

कॉन्टेंट के लिए दिशा-निर्देश

  • शिक्षा से जुड़े सिर्फ़ ऐसे कॉन्टेंट के लिए, Course मार्कअप का इस्तेमाल करें जिसमें कोर्स के तौर पर: पाठ्यक्रम की ऐसी सीरीज़ या यूनिट हो जिसमें किसी विषय और/या मुद्दे पर लेक्चर, पाठ या मॉड्यूल शामिल हों.
  • कोर्स ऐसा होना चाहिए जिससे किसी विषय और/या मुद्दे पर ज्ञान और/या हुनर हासिल हो. साथ ही, इसे एक या एक से ज़्यादा शिक्षकों की देखरेख में, रोस्टर के हिसाब से छात्र-छात्राओं के लिए चलाया जाना चाहिए.
  • एक आम इवेंट, जैसे कि "खगोल विज्ञान दिवस" कोई कोर्स नहीं है. इसी तरह, दो-मिनट में "सैंडविच बनाने का तरीका बताने वाला वीडियो" भी कोर्स नहीं है.

तकनीकी दिशा-निर्देश

आपको कम से कम तीन कोर्स के लिए मार्कअप का इस्तेमाल करना होगा. ये कोर्स अलग-अलग ज़्यादा जानकारी वाले पेजों पर या पूरी जानकारी वाले पेज पर दिए जा सकते हैं.

आपको खास जानकारी वाले पेज पर या पूरी जानकारी वाले पेज पर, कैरसेल मार्कअप जोड़ना होगा.

हर कोर्स का नाम और उसे उपलब्ध कराने वाली कंपनी की जानकारी मान्य होनी चाहिए. उदाहरण के लिए, नाम देने के ये तरीके मान्य नहीं हैं:

  • प्रमोशन करते वाक्यांश: "दुनिया का सबसे अच्छा स्कूल"
  • कोर्स के शुल्क की जानकारी देने वाले शीर्षक: "गिटार बजाना सीखें - सिर्फ़ 3,000 रुपये में!"
  • शीर्षक में कोर्स का ज़िक्र न करना, जैसे: "इस क्लास में शामिल होकर जल्दी पैसे कमाएं!"
  • छूट या खरीदारी के मौकों के बारे में बताना, जैसे: "अपने फ़ील्ड में माहिर लोग अपनी कामयाबी के राज़ बताएंगे — 25% की छूट!"

अलग-अलग तरह के स्ट्रक्चर्ड डेटा की जानकारी

आपका कॉन्टेंट रिच रिज़ल्ट में दिखे, इसके लिए आपको ज़रूरी प्रॉपर्टी जोड़नी होंगी. अपने कॉन्टेंट के बारे में ज़्यादा जानकारी जोड़ने के लिए, आपके पास सुझाई गई प्रॉपर्टी शामिल करने का विकल्प भी मौजूद है. इससे लोगों को बेहतर अनुभव मिल सकता है.

Course

कम से कम तीन कोर्स को मार्कअप करने के लिए, इन प्रॉपर्टी का इस्तेमाल करें. ये कोर्स अलग-अलग ज़्यादा जानकारी वाले पेजों पर या पूरी जानकारी वाले पेज पर दिए जा सकते हैं.

Course की पूरी परिभाषा schema.org/Course पर दी गई है.

ज़रूरी प्रॉपर्टी
description

Text

कोर्स की जानकारी. 60 वर्णों से ज़्यादा न हो.

name

Text

कोर्स का शीर्षक.

सुझाई गई प्रॉपर्टी
provider

Organization

कोर्स का ओरिजनल कॉन्टेंट पब्लिश करने वाले संगठन का नाम. उदाहरण के लिए, यूसी बर्कली (यूनिवर्सिटी ऑफ़ कैलिफ़ोर्निया, बर्कली).

ItemList

कैरसेल के बारे में बताने के लिए, Course प्रॉपर्टी के अलावा, ये प्रॉपर्टी जोड़ें. आपके पास इन प्रॉपर्टी को खास जानकारी वाले पेज पर या पूरी जानकारी वाले पेज पर जोड़ने का विकल्प मौजूद है.

ItemList की पूरी परिभाषा schema.org/ItemList पर दी गई है.

ज़रूरी प्रॉपर्टी
itemListElement

ListItem

एक आइटम वाले पेज की जानकारी.

ListItem.position

Integer

सूची में आइटम पेज की क्रम संख्या.

ListItem.url

URL

आइटम पेज का कैननिकल यूआरएल. हर आइटम का एक अलग यूआरएल होना चाहिए.

समस्या का हल करना

अगर आपको स्ट्रक्चर्ड डेटा लागू करने या डीबग करने में कोई समस्या आ रही है, तो यहां कुछ ऐसे रिसॉर्स दिए गए हैं जिनसे आपको मदद मिल सकती है.