संग्रह की मदद से व्यवस्थित रहें अपनी प्राथमिकताओं के आधार पर, कॉन्टेंट को सेव करें और कैटगरी में बांटें.

पेज पर अचानक दिखने वाले एलिमेंट और डायलॉग से बचना

पेज पर अचानक दिखने वाले एलिमेंट का उदाहरण

पेज पर अचानक दिखने वाले एलिमेंट और डायलॉग, ऐसे पेज एलिमेंट होते हैं जो उपयोगकर्ताओं के लिए कॉन्टेंट देखने में रुकावट पैदा करते हैं. आम तौर पर, ये एलिमेंट किसी पेज पर प्रचार करने के मकसद से जोड़े जाते हैं. अचानक दिखने वाले ये एलिमेंट, पूरे पेज के ऊपर दिखाए जाते हैं. वहीं, डायलॉग किसी पेज के सिर्फ़ एक हिस्से पर दिखाए जाते हैं. कभी-कभी इनमें मौजूद कॉन्टेंट भी अस्पष्ट होता है.

वेबसाइटों को अक्सर कई वजहों से डायलॉग दिखाने की ज़रूरत पड़ती है. हालांकि, पेज पर अचानक दिखने वाले एलिमेंट, उपयोगकर्ताओं को परेशान कर सकते हैं और आपकी वेबसाइट पर उनके भरोसे को कम कर सकते हैं.

पेज पर अचानक दिखने वाले डायलॉग और एलिमेंट की वजह से, Google और दूसरे सर्च इंजन के लिए आपकी वेबसाइट पर मौजूद कॉन्टेंट को समझना मुश्किल हो जाता है. इससे, खोज के नतीजों में आपकी वेबसाइट की परफ़ॉर्मेंस खराब हो सकती है. इसी तरह, अगर उपयोगकर्ताओं को आपकी साइट को इस्तेमाल करने में मुश्किल आती है, तो हो सकता है कि वे वेबसाइट पर दोबारा न जाएं. इनमें, आपकी वेबसाइट पर सर्च इंजन की मदद से आने वाले उपयोगकर्ता भी शामिल हैं.

उपयोगकर्ताओं को परेशान न करने वाले डायलॉग बनाना

परेशान न करने वाले डायलॉग बनाने का मतलब, ऐसे डायलॉग बनाना है जिनसे उपयोगकर्ता आपकी वेबसाइट पर मौजूद कॉन्टेंट को बिना किसी रुकावट के ऐक्सेस कर सकें. यह बात, आपकी वेबसाइट पर प्रचार करने के मकसद से जोड़े गए हर तरह के डायलॉग पर लागू होती है. इसमें, उपयोगकर्ताओं को ऐप्लिकेशन इंस्टॉल करने के लिए मिलने वाले अनुरोध भी शामिल हैं. यहां बताए गए सबसे सही तरीके इस्तेमाल करने से, आपके उपयोगकर्ताओं को साइट पर अच्छा अनुभव मिल सकेगा. साथ ही, Google Search को आपकी साइट के कॉन्टेंट और उसके स्ट्रक्चर को समझने में भी मदद मिलेगी.

पेज पर अचानक दिखने वाले एलिमेंट के बजाय बैनर का इस्तेमाल करना

बेहतर उपयोगकर्ता अनुभव देने वाले बैनर के उदाहरण

वेबसाइट के पूरे पेज पर अचानक दिखने वाले एलिमेंट के बजाय, ऐसे बैनर का इस्तेमाल करें जो उपयोगकर्ताओं का ध्यान खींचने के लिए, स्क्रीन के सिर्फ़ एक छोटे से हिस्से का इस्तेमाल करते हों. इन्हें अलग-अलग तरीकों से लागू किया जा सकता है. उदाहरण के लिए, ऐप्लिकेशन इंस्टॉल करने का अनुरोध करने वाले बैनर दिखाने के लिए, ब्राउज़र के साथ काम करने वाले बैनर का इस्तेमाल किया जा सकता है. जैसे, Safari के लिए Smart App Banners या Chrome के लिए इन-ऐप्लिकेशन इंस्टॉल का अनुभव. दूसरा विकल्प यह है कि आप किसी सामान्य छोटे विज्ञापन से मिलता-जुलता, एक साधारण एचटीएमएल बैनर बनाएं. इस बैनर को डाउनलोड करने के लिए, इसे सही ऐप स्टोर से लिंक किया जाता है. इन छोटे कंटेनर का फिर से इस्तेमाल करके, न्यूज़लेटर के लिए साइन अप करने जैसी दूसरी तरह की सूचनाएं दी जा सकती हैं.

सामान्य लाइब्रेरी का इस्तेमाल करना

कई सीएमएस में ऐसे प्लग इन होते हैं जो आम तौर पर इस्तेमाल किए जाने के लिए, स्टैंडर्ड डायलॉग और पेज पर अचानक दिखने वाले एलिमेंट बनाते हैं. जैसे, न्यूज़लेटर के लिए साइन अप करने की सूचना. उदाहरण के लिए, अगर WordPress का इस्तेमाल किया जा रहा है, तो "newsletter signup wordpress" खोजें. आम तौर पर, ऐसे प्लग इन का इस्तेमाल किए जाने से, इंटरनेट, Google, और दूसरे सर्च इंजन को मदद मिल सकती है, क्योंकि प्लग इन के डेवलपर बड़े पैमाने पर सुधार कर सकते हैं.

सामान्य गलतियांं करने से बचना

अगर कानूनी तौर पर ज़रूरी न हो, तो Google Search को क्रॉल करने और आपका कॉन्टेंट समझने में मदद करने के लिए, किसी डायलॉग या पेज पर अचानक दिखने वाले एलिमेंट को डिज़ाइन करते समय, ये सामान्य गलतियां करने से बचें:

  • पेज पर अचानक दिखने वाले एलिमेंट से पेज को धुंधला न करें.
  • किसी उपयोगकर्ता से उसकी सहमति या इनपुट पाने के लिए, उसे किसी दूसरे पेज पर रीडायरेक्ट न करें.

पेज पर अचानक दिखने वाले ज़रूरी एलिमेंट

कुछ साइटों पर ऐसा कॉन्टेंट पब्लिश किया जाता है कि पेज पर अचानक दिखने वाले एलिमेंट को दिखाना ज़रूरी हो जाता है. उदाहरण के लिए, किसी कसीनो की साइट को उम्र से जुड़ी पाबंदी दिखानी पड़ सकती है. यह वेबसाइट के पेज पर अचानक दिखने वाले किसी विज्ञापन की तरह होता है. इसमें, उपयोगकर्ता को साइट पर कॉन्टेंट ऐक्सेस करने से पहले अपनी उम्र से जुड़ी जानकारी देनी होती है.

इस दस्तावेज़ में बताए गए दिशा-निर्देशों में, पेज पर अचानक दिखने वाले इस तरह के ज़रूरी एलिमेंट के लिए छूट दी गई है. हालांकि, हमारा सुझाव है कि अगर हो सके, तो हर साइट के मालिक को इन सबसे सही तरीकों का पालन करना चाहिए:

  • यह पक्का करें कि कॉन्टेंट, पेज पर अचानक दिखने वाला एलिमेंट के ऊपर दिखे. इससे यह पक्का होगा कि Google, कुछ कॉन्टेंट को अब भी इंडेक्स कर सकता है और उसे खोज के नतीजों में दिखा सकता है.
  • सहमति लेने या डेटा देने के लिए, आने वाले एचटीटीपी अनुरोधों को किसी दूसरे पेज पर रीडायरेक्ट न करें. अगर सभी यूआरएल को किसी एक पेज पर रीडायरेक्ट किया जाता है, तो खोज के नतीजों से सिर्फ़ उस एक पेज को छोड़कर, सभी को हटा दिया जाएगा, क्योंकि Googlebot सिर्फ़ उस पेज को फ़ेच कर सकता है.